१० दिवषीय विपस्सना शिविर के समापन डिस्कोर्स में ११ वें दिन सुबह गोएन्काजी सामूहिक साधना को अत्तयंत लाभकारी बताते हुए यह अवाहन करते हैं की साधक सप्ताह में कम से कम एक बार अपने गुरु भाइयो के साथ बैठ कर अवश्य साधना करे. इस से उसकी विपस्सना साधना को बहुत बल मिलता है.
धम्मावानी, इस अभ्यास को सुचारू बनाने के लिए टाइम ज़ोन्स को ध्यान में रख कर प्रतिदिन २० से भी अधिक सामूहिक साधनाओं का आयोजन करता है. इसका लाभ कैसे लें ,यह जानने के लिए http://www.dhammavani.org पर log on करें

Advertisements